Connect with us

Business

Bad news Amazon CEO said layoffs will continue next year

Published

on


ऐप पर पढ़ें

Amazon Layoff: अमेजन के कॉरपोरेट कर्मियों की बड़े पैमाने पर छंटनी जारी रहने के बीच कंपनी के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एंडी जेस्सी ने कहा है कि यह सिलसिला अगले साल भी जारी रहेगा।  कर्मचारियों को भेजे संदेश में जेस्सी ने कहा, ”मैं बिना किसी संदेह के यह कह सकता हूं कि इस समय हमने जो निर्णय लिया है वह बहुत ही मुश्किल है।”

10000 लोगों को नौकरी से निकालने की तैयारी में Amazon, दे सकती है बड़ा झटका

सिएटल की कंपनी अमेजन बीते कुछ महीनों से अपने कारोबार के विभिन्न क्षेत्रों में लागत कम करने के प्रयास कर रही है। कंपनी में वार्षिक समीक्षा प्रक्रिया चल रही है जिसमें यह पता लगाया जाता है कि धन की बचत कहां और किस प्रकार की जा सकती है। 

यह भी पढ़ें: जेफ बेजोस ने किया अगाह, अभी टीवी और कार मत खरीदें, पैसे बचा कर रखें, आने वाली है मंदी

जेस्सी ने कहा कि इस वर्ष की समीक्षा अधिक कठिन है जिसकी वजह आर्थिक परिदृश्य और बीते कुछ वर्षों में कंपनी में तेजी से हुई भर्तियां हैं। कंपनी ने मंगलवार को कैलिफोर्निया में अपने क्षेत्रीय अधिकारियों को सूचित किया था कि विभिन्न केंद्रों से करीब 260 लोगों को निकाला जाएगा।

जेस्सी ने कहा कि कंपनी अभी यह तय नहीं कर पाई है कि कितनों की नौकरियां प्रभावित होने वाली हैं हालांकि कुछ खंडों में कटौती जरूर की जाएगी। उन्होंने कहा वार्षिक समीक्षा प्रक्रिया अगले वर्ष भी जारी रहने वाली है। अमेजन के दुनियाभर में 15 लाख से अधिक कर्मचारी हैं।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Business

Relief for PhonePe Google Pay as NPCI extends UPI market cap deadline to 31 dec 2024 detail here – Business News India

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) ने फोनपे, गूगलपे समेत कई अन्य यूपीआई सुविधा देने वाली इकाइयों को राहत दी है। इसके तहत तीसरे पक्ष वाली ऐप प्रदाता इकाइयों (टीपीएपी) के लिये डिजिटल भुगतान लेन-देन में 30 प्रतिशत की लिमिट को हासिल करने की समयसीमा दो साल बढ़ाकर दिसंबर, 2024 कर दी गयी है।

इस फैसले का सबसे बड़ा फायदा गूगल पे और वॉलमार्ट के फोनपे को मिलने की उम्मीद है। इन दोनों कंपनियों की यूपीआई आधारित लेन-देन में बड़ी हिस्सेदारी है। एनपीसीआई ने नवंबर, 2020 में थर्ड पार्टी के लिये यूपीआई के जरिये होने वाले लेन-देन का केवल तीस प्रतिशत ही प्रबंधित करने की घोषणा की थी।

यह सीमा एक जनवरी, 2021 से प्रभाव में आनी थी। हालांकि, पांच नवंबर 2020 को अधिक हिस्सेदारी रखने वाले टीपीएपी को चरणबद्ध तरीके से सीमा हासिल करने के लिये दो साल का समय दिया गया।



Source link

Continue Reading

Business

लगातार तीसरे हफ्ते विदेशी मुद्रा भंडार में उछाल, 550 अरब डॉलर को किया पार

Published

on

By



केंद्रीय बैंक ने कहा कि कुल मुद्रा भंडार का अहम हिस्सा माने जाने वाली विदेशी मुद्रा आस्तियां (एफसीए) 25 नवंबर को समाप्त सप्ताह में तीन अरब डॉलर बढ़कर 484.28 अरब डॉलर हो गईं।



Source link

Continue Reading

Business

बंद हुआ इस कंपनी का IPO, शेयर बाजार में ₹600 के पार लिस्टिंग की उम्मीद

Published

on

By



यूनिपार्ट्स इंडिया इंजीनियर्ड सिस्टम्स और सॉल्यूशंस की ग्लोबल मैन्युफैक्चरर है। इसकी 25 से अधिक देशों में उपस्थिति है। एक्सिस कैपिटल, डीएएम कैपिटल एडवाइजर्स और जेएम फाइनेंशियल आईपीओ के मैनेजर थे।



Source link

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022 All Right Reserved by AchookSamachar. Design & Developed by WebsiteWaleBhaiya