Connect with us

Business

Bisleri Tata Deal Why Ramesh Chauhan wants to sell Bisleri tata group to buy company – Business News India

Published

on


ऐप पर पढ़ें

Bisleri Tata Deal: देश की सबसे बड़ी पैकेज्ड वाॅटर मेकर बिसलेरी अपने कारोबार को बेच रही है। कंपनी को खरीदार की तलाश है और इसके लिए टाटा ग्रुप से भी बातचीत चल रही है। ‘बिसलेरी इंटरनेशनल’ के चेयरमैन और मशहूर उद्योगपति रमेश चौहान ने गुरुवार को कहा कि वह अपने बोतलबंद पानी के कारोबार के लिए खरीदार की तलाश में हैं और इस बारे में उनकी टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (Tata consumer products limited) समेत कई कंपनियों से बात चल रही है।

न्यूज एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक, 82 साल के रमेश चौहान से जब इस बारे में पूछा गया कि बिसलेरी कारोबार को बेचने के पीछे क्या वजह है? तब उन्होंने कहा कि आगे चलकर किसी को तो बिजनेस का दायित्व संभालना ही होगा, इसलिए हम उचित रास्ता तलाश रहे हैं। दरअसल, उनकी बेटी जयंती की दिलचस्पी कारोबार को संभालने में नहीं है।

7,000 करोड़ की डील पर किया इनकार 

इतना ही नहीं मीडिया में चल रही डील की रकम को लेकर भी रमेश चौहान ने बातचीत की। उन्होंने टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (टीसीपीएल) के साथ 7,000 करोड़ रुपये के डील की खबर को इनकार किया है। दरअसल, चौहान से पूछा गया था कि क्या वह बिसलेरी का कारोबार बेचने वाले हैं। इस पर उन्होंने कहा, ”हां, हम बेच रहे हैं।” उन्होंने कहा कि समूह की कई संभावित खरीदारों से बात चल रही है। उनसे पूछा गया कि क्या वह टाटा समूह की कंपनी को कारोबार बेच रहे हैं, इस पर चौहान ने कहा, ”यह सही नहीं है…अभी हमारी बात चल रही है।” बिसलेरी इंटरनेशनल के प्रवक्ता ने बाद में मीडिया में एक बयान में कहा, ”अभी हमारी बात चल रही है, इससे अधिक जानकारी नहीं दी जा सकती है।”

यह भी पढ़ें- बिसलेरी के पानी में अब टाटा का स्वाद, ₹7000 करोड़ में फाइनल होगी डील!

30 साल पहले सॉफ्ट ड्रिंक कारोबार को बेचा था

चौहान ने तीन दशक पहले अपने सॉफ्ट ड्रिंक कारोबार को अमेरिकी पेय पदार्थ कंपनी कोका-कोला को बेच दिया था। उन्होंने थम्स अप, गोल्ड स्पॉट, सिट्रा, माजा और लिम्का जैसे ब्रांड 1993 में कंपनी को बेच दिया। चौहान 2016 में फिर से सॉफ्ट ड्रिंक के कारोबार में उतरे लेकिन उनके उत्पाद ‘बिसलेरी पॉप’ को उतनी सफलता नहीं मिली।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Business

IRFC Rail vikas Nigam limited ircon and texmaco stocks rallied up to 85 percent in just one Month – Business News India

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

भारतीय शेयर बाजार नई ऊंचाई पर पहुंच गए हैं। सरकारी बैंकों से शुरू हुई रैली अब दूसरी सरकारी कंपनियों के शेयरों तक पहुंच गई है। सरकारी कंपनियों के शेयरों में अच्छी तेजी देखने को मिल रही है। पिछले कुछ हफ्तों से रेलवे स्टॉक्स भी खासे चर्चा में हैं और पिछले एक महीने में रेलवे शेयरों में 85 पर्सेंट से ज्यादा का उछाल देखने को मिला है। जिन रेलवे स्टॉक्स में तेजी आई है, उनमें रेल विकास निगम लिमिटेड (RVNL), इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड, इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (IRFC) और टेक्समैको रेल एंड इंजीनियरिंग शामिल हैं। 

1 महीने में रेल विकास निगम के शेयर 88% चढ़े

रेल विकास निगम लिमिटेड (RVNL) के शेयरों में पिछले एक महीने में 88 पर्सेंट की तेजी आई है। 2 नवंबर 2022 को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में कंपनी के शेयर 39.95 रुपये के स्तर पर थे। रेल विकास निगम लिमिटेड के शेयर 1 दिसंबर 2022 को 75.05 रुपये पर बंद हुए हैं। पिछले 6 महीने में रेल विकास निगम के शेयरों में करीब 126 पर्सेंट का उछाल आया है। RVNL के शेयरों का 52 हफ्ते का हाई लेवल 84.15 रुपये है। वहीं, कंपनी के शेयरों का 52 हफ्ते का लो लेवल 29 रुपये है। 

यह भी पढ़ें- शेयर की खरीदारी मूड में ये 2 कंपनियां, निवेशकों को मिल चुका तगड़ा रिटर्न

महीने भर में ही 51% चढ़ गए इंडियन रेलवे फाइनेंस के शेयर

इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन (IRFC) के शेयरों में एक महीने में ही 51 पर्सेंट से ज्यादा की तेजी आई है। IRFC के शेयर 2 नवंबर 2022 को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर 22.65 रुपये के स्तर पर थे। कंपनी के शेयर 1 दिसंबर 2022 को बीएसई पर 34.25 रुपये के स्तर पर बंद हुए हैं। पिछले 6 महीने में IRFC के शेयर 60 पर्सेंट से ज्यादा चढ़ गए हैं। इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन के शेयरों का 52 हफ्ते का हाई लेवल 36.50 रुपये है। वहीं, कंपनी के शेयरों का 52 हफ्ते का लो लेवल 19.30 रुपये है।  

यह भी पढ़ें- IPO के एक साल बाद पॉलिसीबाजार पर फैसला, SoftBank बेचेगी 5 पर्सेंट हिस्सेदारी

इरकॉन इंटरनेशनल के शेयरों में भी आई अच्छी तेजी

इरकॉन इंटरनेशनल या इंडियन रेलवे कंस्ट्रक्शन लिमिटेड के शेयरों में पिछले 1 महीने में अच्छी तेजी आई है। इरकॉन इंटरनेशनल के शेयर पिछले 1 महीने में करीब 37 पर्सेंट चढ़ गए हैं। वहीं, पिछले 6 महीने में सरकारी कंपनी के शेयरों में करीब 55 पर्सेंट का उछाल आया है। टेक्समैको रेल एंड इंजीनियरिंग के शेयरों में पिछले 1 महीने में करीब 22 पर्सेंट की तेजी आई है। वहीं, 6 महीने में कंपनी के शेयर करीब 33 पर्सेंट चढ़ गए हैं। 

डिस्क्लेमर: यहां सिर्फ शेयर के परफॉर्मेंस की जानकारी दी गई है, यह निवेश की सलाह नहीं है। शेयर बाजार में निवेश जोखिम के अधीन है और निवेश से पहले अपने एडवाइजर से परामर्श कर लें।



Source link

Continue Reading

Business

नवंबर में बढ़ गई बेरोजगारी, गांव के मुकाबले शहर में दिखे ज्यादा बेरोजगार

Published

on

By



बीते नवंबर महीने में शहरी भारत में बेरोजगारी ग्रामीण क्षेत्र से कहीं अधिक रही। शहरी क्षेत्र में बेरोजगारी दर 8.96 प्रतिशत आंकी गई जबकि ग्रामीण क्षेत्र में यह 7.55 प्रतिशत रही।



Source link

Continue Reading

Business

Multibagger stock cosmo first declares buyback of 10 lakh shares and also jenburkt pharma – Business News India

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

शेयर बाजार में लिस्टेड स्मॉल कैप कंपनी-Cosmo First और Jenburkt Pharmaceuticals लिमिटेड ने शेयर बायबैक का ऐलान किया है। इसके तहत दोनों कंपनियां अपने ही शेयर खरीदेंगी। अहम बात है कि दोनों कंपनियों के शेयर ने अब तक निवेशकों को तगड़ा रिटर्न दिया है। आइए जानते हैं इसकी पूरी डिटेल।

Cosmo First: पैकेजिंग उद्योग से जुड़ी इस कंपनी ने इक्विटी शेयरों की स्वैच्छिक और आनुपातिक बायबैक की घोषणा की है। बायबैक के तहत कंपनी 10.09 लाख शेयरों की खरीदारी करेगी। यह ₹108 करोड़ का होगा। कंपनी के बोर्ड ने बायबैक के लिए 14 दिसंबर को रिकॉर्ड तिथि के रूप में तय किया है।

बता दें कि गुरुवार को Cosmo First के शेयर ₹827 पर बंद हुए, जो पिछले बंद ₹802.80 से 3.01% अधिक है। स्टॉक ने पिछले पांच वर्षों में 251.57% का मल्टीबैगर रिटर्न और पिछले तीन वर्षों के दौरान 430.88% का मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। हालांकि, पिछले वर्ष की तुलना में स्टॉक में 7.32 प्रतिशत की गिरावट आई है। वहीं, 2022 में यह 11.7 प्रतिशत गिरा है।

Jenburkt Pharmaceuticals: फार्मा सेक्टर से जुड़ी इस कंपनी ने शेयर के बायबैक का ऐलान किया है। इस बायबैक का साइज ₹11.60 करोड़ है। बता दें कि Jenburkt फार्मास्युटिकल्स के शेयर ₹617.50 पर बंद हुए, जो एक दिन पहले के ₹645.15 के मुकाबले 4.29% कम है। 14 जुलाई 1995 को शेयर की कीमत ₹17.50 से बढ़कर वर्तमान बाजार मूल्य पर पहुंच गई है जो 3,428.57% का रिटर्न है। स्टॉक ने पिछले वर्ष की तुलना में 13.73% का रिटर्न दिया है। वहीं, 2022 में यह शेयर 10.58% चढ़ चुका है।



Source link

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022 All Right Reserved by AchookSamachar. Design & Developed by WebsiteWaleBhaiya