Connect with us

Tech

Chhattisgarh News Rashtriya Swayamsevak Sangh RSS Chief Mohan Bhagwat said that we have same ancestors – मोहन भागवत बोले- भारत में रहने वाला हर व्यक्ति हिंदू, किसी को पूजा पद्धति बदलने की जरूरत नहीं

Published

on


ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत (Rashtriya Swayamsevak Sangh, RSS Chief Mohan Bhagwat) ने मंगलवार को कहा कि भारत में रहने वाला हर व्यक्ति हिंदू है। किसी को भी पूजा करने के तरीके को बदलने की जरूरत नहीं है, क्योंकि सब रास्ते एक ही जगह जाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सभी भारतीयों का डीएनए एक है। प्राचीन अखंड भारत का जो भूभाग था उसमें रहने वाले सभी लोगों के सबके पूर्वज समान हैं। हमारे पूर्वजों ने हमें अपनी अपनी पूजा पद्धति पर कायम रखना सिखाया है। वह छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले के मुख्यालय अंबिकापुर में स्वयंसेवकों (संघ के स्वयंसेवकों) के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। 

समाचार एजेंसी पीटीआई भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक भागवत ने कहा कि विविधता में एकता भारत की सदियों पुरानी विशेषता है। एक मात्र हिंदुत्व नाम का विचार दुनिया में ऐसा है जो सभी को साथ लेने में विश्वास करता है। हम 1925 से कह रहे हैं कि भारत में रहने वाला हर व्यक्ति हिंदू है। हिंदुत्व ने सब विविधताओं को हजारों वर्षों से भारत की भूमि में एक साथ चलाया है, यह सत्य है और इस सत्य को बोलना है और डंके की चोट पर बोलना है। जो भारत को अपनी माता मानता है, मातृभूमि मानता है, जो भारत में विविधता में एकता वाली संस्कृति को जीना चाहता है, उसके लिए प्रयास करता है, वह पूजा किसी भी तरह से करे, भाषा कोई भी बोले, खानपान, रीति-रिवाज कोई भी हो, वह​ हिंदू है। 

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि हम सभी के पूर्वज समान है। विज्ञान डीएनए मैपिंग के बाद कहता है कि 40 हजार साल पहले जो अखंड भारत था, काबुल के पश्चिम से छिंदविन नदी के पूरब तक और तिब्बत की उत्तर की ढ़लान से श्रीलंका के दक्षिण तक, इसमें रहने वाले मानव समूह का डीएनए एक समान है। 40 हजार साल पहले से हमारे पूर्वज समान है। हमको उन पूर्वजों ने यही सिखाया कि अपनी अपनी पूजा पद्धति पर पक्के रहना चाहिए। उन्होंने हमें सिखाया कि अपनी भाषा का विकास करो। हमें अपने अपने खान पान रीति रिवाज पर पक्के रहना चाहिए। 

मोहन भागवत ने कहा कि संघ का काम हिंदुत्व के विचार के अनुसार व्यक्ति और राष्ट्रीय चरित्र का निर्माण करना और लोगों में एकता को बढ़ावा देना है। सभी के विश्वास और संस्कारों का सम्मान करें, सबको स्वीकार करें और अपने रास्ते पर चलें। अपनी इच्छा पूरी करे, लेकिन इतना स्वार्थी मत बनें कि दूसरों की भलाई का ध्यान न रहे। हमारी संस्कृति हमें जोड़ती है। हम आपस में कितना भी लड़ लें, संकट के समय हम एक हो जाते हैं। जब देश पर किसी तरह की मुसीबत आती है तो हम साथ मिलकर लड़ते हैं। कोरोना महामारी के दौरान इससे निपटने के लिए पूरा देश एक होकर खड़ा हो गया। संघ का मकसद सत्य के मार्ग पर चलते हुए लोगों को जोड़ना और समाज को मजबूत बनाना है।

संघ प्रमुख ने कहा कि बेदों के काल से लोग अलग अलग पूजा पद्धतियों, धर्मों और मतों में विश्वास करते रहे हैं। संघ जैसा आज कोई दूसरा नहीं है, संघ को जानना है तो किसी बात से तुलना करके नहीं जान सकते हैं। संघ का काम समझना है, तो तुलना करके इसे नहीं समझ सकते हैं, गलतफहमी होने की संभावना होती है। संघ के बारे में पढ़ लिखकर अनुमान भी नहीं लगाया जा सकता है। संघ को समझना है तो संघ में आना चाहिए, इससे आप संघ को भीतर से देख सकते हैं, खुद के अनुभव से संघ समझ में आता है। संघ का उद्देश्य लोकप्रियता हासिल करना नहीं है। 

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Tech

VIDEO: बीच रास्ते में युवक की पिटाई के बाद बदायूं में बवाल, अफसरों पर पत्थरबाजी, सीओ की गाड़ी तोड़ी

Published

on

By



यूपी के बदायूं में शुक्रवार की शाम पुलिस की पिटाई से एक युवक बेहोश हो गया। इसके बाद गुस्साए लोगों ने जमकर हंगामा कर दिया। लोगों के हंगामे की सूचना पर आला अफसर भी मौके पर पहुंच गए।

Continue Reading

Tech

हिमाचल सीएम पर कांग्रेस हाईकमान करेगा फैसला, विधायक दल की बैठक में प्रस्ताव पारित

Published

on

By



हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में शुक्रवार शाम को कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक हुई। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में एक लाइन का प्रस्ताव पारित किया गया कि अगला मुख्यमंत्री कांग्रेस आलाकमान

Continue Reading

Tech

IND vs BAN : वनडे विश्व कप टीम में फिट होने के लिए वॉशिंगटन सुंदर कर रहे इस प्लान पर काम, जानिए क्या कहा

Published

on

By



अगले साल विश्व कप को देखते हुए वॉशिंगटन सुंदर ऐसे खिलाड़ी बनना चाहते हैं जो किसी भी स्थिति में, किसी भी प्रकार के संयोजन में और जहां भी टीम की जरूरत हो, खेल सके।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022 All Right Reserved by AchookSamachar. Design & Developed by WebsiteWaleBhaiya