Connect with us

Business

Gold price today 15 nove very close to 53000 huge jump in silver price sold at rs 62467 in bullion market

Published

on


ऐप पर पढ़ें

Gold Price 15 November: सोने-चांदी की उड़ान जारी है। आज भी दोनों के भाव में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है। आज यानी मंगलवार को सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट सोने का औसत हाजिर भाव 53000 के करीब पहुंच गया है।  सोना साेमवार के बंद भाव के मुकाबले 447 रुपये प्रति 10 ग्राम महंगा होकर खुला। वहीं, चांदी आज 884 रुपये प्रति किलो चढ़कर 62467 रुपये पर खुली। 

यह भी पढ़ें: ₹85000 पर पहुंच सकती है चांदी, सोना 6 दिन में 2100 रुपये से अधिक महंगा

अब शुद्ध सोना अपने ऑल टाइम हाई रेट से 56254 रुपये प्रति 10 ग्राम से केवल 3377 रुपये ही सस्ता रह गया है। जबकि, चांदी अपने दो साल पहले के उच्च रेट 76008 रुपये प्रति किलो से अब केवल 13541 रुपये ही सस्ती है।

क्यों बढ़ रही हैं कीमतें

दरअसल सोने की रफ्तार बढ़ने के लिए ट्रैक तैयार है। केडिया कमोडिटिज के प्रेसीडेंट अजय केडिया कहते हैं कि गोल्ड अगले साल तक एक नया ऑल टाइम हाई पर पहुंच सकता है। क्योंकि गोल्ड के बढ़ने के लिए जो माहौल चाहिए, उसे पूरा मिल रहा है। अंतराष्ट्रीय स्तर पर रुस-यूक्रेन समेत भू-राजनैतिक तनाव, बाजार में मंदी के आसार, ईटीएफ में निवेश का बढ़ना और केंद्रीय बैंकों द्वारा लगातार सोना खरीदना, ये ऐसे कारक हैं, जो सोने की कीमतें और बढ़ाने का काम कर रहे हैं। 

जीएसटी समेत 14 से 24 कैरेट सोने का ताजा भाव

आज सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट सोने का जीएसटी समेत औसत हाजिर भाव 54463 रुपये है। इसमें 99.99 पर्सेंट सोना होता है और इससे कोई जेवर नहीं बनता। आज यह 52877 रुपये पर खुला। वहीं, 23 कैरेट गोल्ड की औसत कीमत अब जीएसटी के साथ 54244 रुपये है। आज यह 52665 रुपये प्रति 10 ग्राम के रेट से खुली। इसमें 95 पर्सेंट सोना होता है। इस पर अगर ज्वेलर का मुनाफा जोड़ लें तो यह 59669 रुपये पड़ेगा। ज्वेलरी मेकिंग चार्ज के साथ यह 62500 रुपये के पार पहुंच जाएगा।

22 कैरेट गोल्ड की कीमत 48435 रुपये प्रति 10 ग्राम है। अब 3 फीसद जीएसटी के साथ इस सोने की कीमत 49888 रुपये है। इसमें 85 फीसद गोल्ड होता है। ज्वेलरी मेकिंग चार्ज और ज्वेलर का मुनाफा जोड़ने के बाद यह आपको करीब 60500 रुपये का पड़ेगा। जबकि, 18 कैरेट गोल्ड का रेट 39658 रुपये प्रति 10  ग्राम है और जीएसटी के साथ इसकी कीमत अब 40847 रुपये हो गई है। इसमें 75 प्रतिशत ही सोना होता है। ज्वेलरी मेकिंग चार्ज और मुनाफा जोड़ कर करीब यह 53000 रुपये पड़ेगा।

बता दें सोने-चांदी के ये रेट आईबीजेए द्वारा जारी किए गए औसत रेट हैं, जो कई शहरों से



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Business

Gold Price Latest Gold price again crossed 54000 silver became cheaper

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

Gold Silver Price Today 8 Dec 2022: सोने के भाव एक बार फिर 54000 रुपये प्रति 10 ग्राम के पार चले गए हैं। वहीं चांदी के भाव गिरे हैं। एमसीएक्स पर शुरुआती कारोबार में सोने का 3 फरवरी का वायदा भाव 54001 रुपये पर पहुंच गया है। वहीं, चांदी का 3 मार्च का वायदा भाव 0.20 फीसद गिरकर 66133 रुपये प्रति किलो पर आ गया है।


बुधवार को गिरे थे भाव

विदेशों में कीमतों में नरमी के बीच बुधवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 35 रुपये और टूटकर 54,054 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने यह जानकारी दी। इससे पिछले, कारोबारी सत्र में सोना 54,089 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। चांदी भी 251 रुपये के नुकसान से 65,928 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई।

क्यों गिरे भाव

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषक दिलीप परमार ने कहा, “मंदी की आशंकाओं के कारण जोखिम लेने से बचने से सोने की कीमत थोड़ी घटी है…।” अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना नुकसान के साथ 1,772.8 डॉलर प्रति औंस पर था।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (जिंस बाजार अनुसंधान) नवनीत दमानी ने कहा, “निवेशकों की अगले सप्ताह अमेरिकी फेडरल रिजर्व की होने वाली बैठक पर नजर है। उससे नीतिगत दर में वृद्धि की गति को लेकर रुख साफ होगा। इससे एशियाई कारोबार में सोने की कीमतों में उतार-चढ़ाव देखा गया।”



Source link

Continue Reading

Business

Winemarker Sula Vineyards IPO GMP down at 43 rupees issue open 12 dec check price band other details – Business News India

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

Sula Vineyards IPO: वाइन बनाने वाली कंपनी सुला वाइनयार्ड्स का इनिशियल पब्लिक आफरिंग यानी आईपीओ (IPO) अगले सप्ताह 12 दिसंबर को निवेश के लिए ओपन हो रहा है। निवेशक 14 दिसंबर तक इसमें दांव लगा सकेंगे। इसका प्राइस बैंड 340-357 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है। निवेशक कम से कम 42 इक्विटी शेयरों और उसके गुणकों में बोली लगा सकते हैं। एंकर बुक शुक्रवार 9 दिसंबर को शुरू होगी। दिग्गज वाइन कंपनी के आईपीओ को लेकर निवेशकों में क्रेज है लेकिन ग्रे मार्केट कुछ और संकेत दे रहा है। दरअसल, ग्रे मार्केट में बुधवार के मुकाबले आज भाव गिरे हैं। 

क्या चल रहा GMP?

सुला वाइनयार्ड्स का ग्रे मार्केट में जबरदस्त उछाल है। कंपनी के शेयर आज गुरुवार को ग्रे मार्केट में 43 रुपये प्रीमियम पर कारोबार कर रहे हैं। इससे पहले बुधवार को इसका जीएमपी 70 रुपये प्रीमियम पर था।

PNB के करोड़ों ग्राहक ध्यान दें! इस दिन के बाद नहीं कर पाएंगे कोई ट्रांजेक्शन, बैंक ने दी जानकारी

960 करोड़ का होगा आईपीओ

यह इश्यू पूरी तरह से कंपनी के प्रमोटरों और मौजूदा शेयरधारकों द्वारा 2,69,00,530 इक्विटी शेयरों की बिक्री (OFS) की पेशकश है। वाइनमेकर प्रारंभिक हिस्सेदारी बिक्री के माध्यम से 960.35 करोड़ रुपये जुटाना चाहता है, जबकि पहले यह 1,200-1,400 करोड़ रुपये था। प्रमोटर राजीव सामंत के साथ-साथ कॉफिनट्रा एसए, हेस्टैक इन्वेस्टमेंट्स, सामा कैपिटल III, एसडब्ल्यूआईपी होल्डिंग्स, वर्लिन्वेस्ट फ्रांस एसए, वर्लिन्वेस्ट एसए और अन्य बिक्री वाले शेयरधारक ओएफएस में पार्टिसिपेंट करेंगे।

यह भी पढ़ें- 632 रुपये पर हो सकती है लिस्टिंग, पहले ही दिन निवेशक होंगे मालामाल! आज खाते में आएंगे शेयर

कंपनी के बारे में

सुला वाइनयार्ड्स 31 मार्च, 2021 तक भारत का सबसे बड़ा शराब उत्पादक और विक्रेता है। इसका प्रमुख ब्रांड ‘सुला’ भारत में शराब का ‘कैटेगरी क्रिएटर’ है। नासिक स्थित कंपनी RASA, डिंडोरी, द सोर्स, सटोरी, मदेरा और दीया सहित लोकप्रिय ब्रांडों के तहत वाइन डिस्ट्रिब्यूट करती है। बीते साल Sula Vineyards ने बताया था कि कंपनी की मैन्युफैक्चरिंग कैपासिटी 14.5 मिलियन लीटर थी। वित्त वर्ष 2022 में कंपनी का लाभ कई गुना बढ़कर 52.14 करोड़ रुपये हो गया, जबकि वित्त वर्ष 2021 में यह महज 3.01 करोड़ रुपये था। इस दौरान राजस्व में 8.60% की वृद्धि हुई और यह 453.92 करोड़ रुपये रहा।

 



Source link

Continue Reading

Business

Sahara investors will get their money this is how you claim see SEBI new order

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

सहारा इंडिया (Sahara India) में जिन निवेशकों का पैसा फंसा है, उनके लिए एक राहत भरी खबर है। सेबी (SEBI) ने नियामकीय नियमों के उल्लंघन के एक मामले में सहारा समूह (Sahara Group) की कंपनी, इसके प्रमुख सुब्रत रॉय और अन्य को 15 दिन के भीतर 6.42 करोड़ रुपये का भुगतान करने का निर्देश दिया है। 

भुगतान नहीं किए जाने की स्थिति में उनकी परिसंपत्तियों की कुर्की होगी। सेबी ने कुछ महीने पहले जुर्माना लगाया था, जिसका भुगतान नहीं किए जाने पर अब यह नोटिस जारी किया गया है। सेबी ने हालिया नोटिस में पांचों को 15 दिन के भीतर 6.42 करोड़ रुपये का भुगतान करने का निर्देश दिया जिसमें ब्याज और रिकवरी शुल्क भी शामिल है।

सहारा से क्लेम लेने के लिए क्या करें

 अगर आपका भी पैसा सहारा में फंसा है तो इसको वापस पाने के लिए आपको सेबी या कंज्यूमर हेल्पलाइन से बदद लेनी पड़ेगी। इसके लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है। आप घर बैठे मोबाइल से शिकायत दर्ज करा सकते हैं और सेबी से क्लेम कर सकते हैं। बता दें सेबी (SEBI)  ने एक दशक के दौरान सहारा इंडिया परिवार (Sahara India)  की दो कंपनियों के निवेशकों को 138 करोड़ रुपये का रिफंड किया है। री-पेमेंट के लिए विशेष रूप से खोले गए बैंक खातों में जमा राशि बढ़कर 24,000 करोड़ रुपये से अधिक हो गई है।

यह भी पढ़ें:  14 साल पहले सहारा के निवेशकों के साथ हुआ खिलवाड़! अब सुब्रत रॉय, कंपनी पर नया शिकंजा

सेबी से हेल्प लेने के लिए आपको उसके टोल फ्री नंबर 18002667575 या 1800227575 पर सुबह नौ बजे से शाम छह 6 बजे के बीच कॉल कर अपनी दिक्कतें बतानी होगी। इसके अलावा अगर आप सहारा से रिफंड लेने के लिए अपनी शिकायत दर्ज करना चाहते हैं तो आपको निम्नलिखित प्रक्रिया अपनानी होगी।

  • सबसे पहले आपको कंजूमर हेल्पलाइन की वेबसाइट https://consumerhelpline.gov.in/ पर जाना है |
  • फिर आपको यहां पर अपना एक अकाउंट बनाएं।
  • इसके बाद आपको अपने यूजर आईडी से लॉगिन करें।
  • लॉगिन होने के बाद आपको अपनी शिकायत दर्ज करने के लिए 
  • जरूरी दस्तावेजों को अपलोड करें।
  • इसके बाद इस आवेदन को सबमिट करें।
  • अब आपकी शिकायत दर्ज हो गई और आपको रजिस्ट्रेशन नंबर मिला होगा।
  • यह रजिस्ट्रेशन नंबर आपको ईमेल आईडी पर भी भेज दिया जाएगा 
  • इसके बाद जल्दी आपकी शिकायत का निवारण कर दिया जाएगा।

बता दें बता दें सेबी ने जून में सहारा इंडिया रियल एस्टेट कॉरपोरेशन (अब सहारा कमोडिटी सर्विसेस कॉरपोरेशन), सुब्रत रॉय, अशोक रॉय चौधरी, रवि शंकर दुबे और वंदना भार्गव पर कुल छह करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था। यह जुर्माना वैकल्पिक पूर्ण-परिवतर्नीय डिबेंचर (ओएफसीडी) जारी करने संबंधी नियामकीय नियमों का उल्लंघन करने की वजह से लगाया गया था।



Source link

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022 All Right Reserved by AchookSamachar. Design & Developed by WebsiteWaleBhaiya