Connect with us

Tech

Now more interest on FD the effect of reducing deposits and increasing demand for loans

Published

on


Interest on FD:  सावधि जमा (एफडी) कराने की योजना बना रहे हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। बैंकों ने पिछले कुछ महीनों में जमा पर ब्याज दरों में वृद्धि की है लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि कर्ज की बढ़ती मांग और नकदी की कमी उन्हें कम से कम आधा फीसदी से 0.75 फीसदी दरें और बढ़ाने के लिए मजबूर कर सकती है। सरकारी क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) ने इसकी शुरुआत भी कर दी है।

आईओबी ने कहा है कि वह 10 नवंबर से अपनी खुदरा सावधि जमाओं पर ब्याज दरों में 0.60 प्रतिशत तक बढ़ोतरी करेगा। विशेषज्ञों का कहना है कि नकदी की तंग होती स्थिति और कर्ज में दशक के उच्चतम स्तर की 18 प्रतिशत की वृद्धि तथा जमा में कमी बैंकों को एफडी दरें बढ़ाने पर विवश कर रही है। मौजूदा समय सरकारी और निजी क्षेत्र के कुछ बैंक सामान्य खाताधारकों को एफडी पर 7.50 फीसदी तक ब्याज दे रहे हैं। जबकि वरिष्ठ नागरिकों को आठ फीसदी तक ऊंचे ब्याज की पेशकश कर रहे हैं।

निजी क्षेत्र का एचडीएफसी भी विशेष जमा पर 7.5 फीसदी ब्याज की पेशकश कर रहा है। जून और अक्तूबर के बीच, एसबीआई ने दो से तीन साल की श्रेणी में बढ़ोतरी की। हालांकि, पिछले सप्ताह के दौरान, कुछ सरकारी बैंकों ने विशेष जमा योजनाओं पर ब्याज दरें बढ़ाने का ऐलान किया जिससे उनकी ब्याज दरें 7.4 फीसदी तक हो गई हैं।

कर्ज के मुकाबले जमा पर कम वृद्धि

इस साल मई से अब तक रिजर्व बैंक रेपो दर में 1.90 फीसदी तक इजाफा कर चुका है। बैंकों ने कर्ज पर ब्याज दरें रेपो दर के अनुसार बढ़ाई हैं। लेकिन जमा पर ब्याज दरों में औसतन 0.35 फीसदी तक वृद्धि हुई है। ऐसे में बैंक कर्ज की मांग को देखते हुए जमा पर भी ब्याज दरों में तेज वृद्धि कर सकते हैं।

बैंकों के पास घट रही नकदी

एसबीआई की एक रिपोर्ट में के मुताबिक बैंकों में शुद्ध रूप से अप्रैल, 2022 में औसतन 8.3 लाख करोड़ रुपये की नकदी डाली गई। यह अब करीब एक-तिहाई कम होकर तीन लाख करोड़ रुपये पर आ गई है। ऐसे में ग्राहकों को कर्ज देने के लिए बैंको को भारी नकदी की जरूरत है। विशेषज्ञों का कहना है कि इस स्थिति में बैंकों के पास जमा पर ब्याज दरें बढ़ाने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।

बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने कर्ज महंगा किया

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ महाराष्ट्र (बीओएम) ने चुनिंदा अवधि के कर्ज के लिए कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) बढ़ा दी है। बैंक ने बुधवार को शेयर बाजार को बताया कि एक साल की अवधि वाले एमसीएलआर को 7.80 प्रतिशत से बढ़ाकर 7.90 प्रतिशत कर दिया गया है। वाहन, व्यक्तिगत तथा आवास ऋण जैसे उपभोक्ता कर्ज पर यही ब्याज लगता है। बैंक के अनुसार, संशोधित एमसीएलआर सात नवंबर, 2022 से प्रभावी हो गयी है। वहीं, एक महीने की अवधि वाली एमसीएलआर को 0.05 अंक बढ़ाकर 7.50 प्रतिशत कर दिया गया है। इसके अलावा एक दिन की अवधि तथा तीन और छह महीने की अवधि वाले ऋण की ब्याज दरों में बदलाव नहीं किया गया है।

आईओबी एफडी पर आज से 0.60 प्रतिशत ऊंचा ब्याज देगा

सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) ने कहा कि वह 10 नवंबर से अपनी खुदरा सावधि जमाओं पर ब्याज दरों में 0.60 प्रतिशत तक बढ़ोतरी करेगा। इस बढ़ोतरी के साथ घरेलू और अनिवासी जमाकर्ताओं को 444 दिन, तीन साल और उससे अधिक अवधि के लिए जमाओं पर 7.15 प्रतिशत तक ब्याज मिलेगा। बैंक ने बयान में कहा कि 270 दिन से एक साल और एक साल से तीन साल की अवधि वाली सावधि जमाओं पर ब्याज दरों में 0.60 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई है।

डेढ़ फीसदी वृद्धि की जरूरत

बैंकिंग क्षेत्र के शीर्ष अधिकारी ने कहा कि मौजूदा समय में में जमा दरों को एक उत्पाद के रूप में आकर्षक बनाने और विकास में तेजी लाने के लिए एक से 1.50 फीसदी वृद्धि की जरूरत है। इसके अलावा यदि मौजूदा ऋण-जमा अनुपात (एलडीआर) को बनाए रखना है, तो वित्त वर्ष 22-25 के दौरान जमा में वृद्धि सालाना 16 से 20 की चक्रवृद्धि के क्रम की होनी चाहिए।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Tech

Why did Rohit Sharma July 2019 tweet go viral after India vs Bangladesh 2nd ODI IND vs BAN Rohit Sharma Injury update

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा का जुलाई 2019 का एक ट्वीट खूब वायरल हो रहा है। रोहित ने बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे वनडे इंटरनेशनल मैच में डिसलोकेटेड अंगूठे के साथ बल्लेबाजी की। रोहित फील्डिंग के दौरान चोटिल हो गए थे, जिसके बाद वह फील्डिंग करने नहीं आ पाए। रोहित को स्लिप में कैच लेने के चक्कर में चोट आई थी। जिसके बाद उनके हाथ से खून भी निकलने लगा था। रोहित ने मैच के बाद बताया कि उनके हाथ में कुछ टांके भी आ रखे हैं और अंगूठा डिसलोकेट हो गया है। रोहित भारत की ओर से नंबर-9 पर बल्लेबाजी करने आए थे। रोहित की इस बहादुरी भरी पारी के बाद उनका जुलाई 2019 में किया ट्वीट खूब वायरल हो रहा है।

रोहित को टूटे अंगूठे के साथ बल्लेबाजी करता देख इमोशनल हुईं उनकी पत्नी

रोहित ने तक ट्वीट किया था, ‘मैं सिर्फ अपनी टीम के लिए नहीं मैदान पर उतरता हूं, मैं अपने देश के लिए मैदान पर आता हूं।’ रोहित के इस ट्वीट का स्क्रीनशॉट अब सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है।

रोहित शर्मा की जुझारू पारी के बाद वायरल हुआ SKY का ये ट्वीट

टीम इंडिया को बांग्लादेश के खिलाफ लगातार दूसरी हार झेलनी पड़ी है। पिछला मैच भारत ने एक विकेट से गंवाया था और अब पांच रन से मैच हार गया। रोहित शर्मा ने 28 गेंदों पर 51 रन बनाए, रोहित के बल्ले से तीन चौके और पांच छक्के लगाए। रोहित ने लगभग टीम इंडिया को जीत के दरवाजे तक पहुंचा दिया था, लेकिन मुस्तफिजुर रहमान की आखरी यॉर्कर गेंद पर वह छक्का नहीं लगा पाए और मैच भारत ने पांच रनों से गंवा दिया।

Continue Reading

Tech

himachal pradesh government formation bjp active contact independents

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

Himachal Election Result: हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीते कुछ दशकों से हार और जीत का अंतर आमतौर पर 10 सीटों के आसपास ही रहता है। अकेले 2017 के चुनाव में ही भाजपा ने 44 सीटों के साथ बड़ी जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस को 21 पर संतोष करना पड़ा था। लेकिन इस बार तस्वीर एकदम उलट है। मैच फंस गया है और चुनाव आयोग के डेटा के मुताबिक कांग्रेस 34 सीटों पर आगे हैं और भाजपा 30 पर अटकी है। यदि ऐसा ही ट्रेंड बना रहा तो सरकार बनाने के लिए हिमाचल में गेम हो सकता है। इसकी वजह यह है कि प्रदेश में सरकार बनाने के लिए 35 सीटों की जरूरत है, जबकि कांग्रेस के पास फिलहाल 34 सीटें ही हैं। 

यही वजह है कि भाजपा पहले से ही सक्रिय हो गई है। पार्टी ने वरिष्ठ नेता विनोद तावड़े को हिमाचल प्रदेश भेजा है। सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने 4 निर्दलीय उम्मीदवारों से संपर्क साधा है, जिनमें से तीन भाजपा के ही बागी थे। सरकार बनाने के लिए जादुई आंकड़ा 35 है और भाजपा यदि एकाध सीट पीछे रहती है तो वह निर्दलीय उम्मीदवारों के भरोसे सरकार बनाने की कोशिश कर सकती है। एक तरफ भाजपा निर्दलीय विधायकों से संपर्क में है तो वहीं कांग्रेस डिफेंसिव मोड में दिख रही है। राजीव शुक्ला शिमला में हैं और भूपिंदर सिंह हुड्डा एवं भूपेश बघेल भी सक्रिय हैं। 

कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि पार्टी विधायकों को अपने पाले में बनाए रखने की जद्दोजहद कर रही है। कहा जा रहा है कि कांग्रेस अपने विधायकों को किसी संघर्ष की स्थिति में चंडीगढ़ में शिफ्ट कर सकती है। हिमाचल में सरकार बनाने का जुगाड़ करने के बाद ही वह विधायकों को शिमला का रिटर्न टिकट देगी। यदि भाजपा अपने ही दम पर सरकार बना लेती है तो फिर ऐसा करने की जरूरत नहीं होगी। लेकिन कांग्रेस ने पूरी तैयारी कर ली है। गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश में ओल्ड पेंशन स्कीम, अग्निपथ योजना जैसे मुद्दों से हलचल दिखी थी। हिमाचल में सरकारी कर्मचारियों को बहुत बड़ा वर्ग है और इन मुद्दों पर उसने वोट डाला था। यही वजह है कि भाजपा उतनी सीटें जीतती नहीं दिख रही, जितना उसका दावा था। 

Continue Reading

Tech

Morbi Seat Result Bridge Accident Gujarat Election Result 2022 Live Updates – India Hindi News

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

Morbi Election Result: गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए गुरुवार सुबह से वोटों की गिनती जारी है। रुझानों में बीजेपी बहुमत का आंकड़ा पार कर चुकी है और धीरे-धीरे इतिहास रचने के करीब है। कांग्रेस को राज्य में करारा झटका लगा है, जबकि आम आदमी पार्टी दस फीसदी से अधिक वोट हासिल करती दिख रही है। बीजेपी के तमाम दिग्गज नेताओं को रुझानों में बढ़त हासिल है। वहीं, मोरबी हादसे में कई लोगों की जान बचाने वाले बीजेपी उम्मीदवार को जनता ने चुनाव में आशीर्वाद दिया है। दरअसल, मोरबी से बीजेपी कैंडिडेट कांतिलाल अमृतिया दस हजार से अधिक वोटों से आगे चल रहे हैं। 

मच्छु नदी पर बना पुल अक्टूबर महीने में टूट गया था। इस हादसे में 130 से अधिक लोगों की जान चली गई थी। हादसे के फौरन बाद कांतिलाल अमृतिया ने नदी में कूदकर कई लोगों की जान बचाई थी। सोशल मीडिया पर उनके कई वीडियो सामने आए थे, जिसमें वे लाइफ ट्यूब पहने हुए दिखाई दे रहे थे और लोगों की जान बचाने की कोशिश कर रहे थे। चश्मदीदों ने बताया था कि जब पुल हादसा हुआ, उसके तुरंत बाद अमृतिया ने नदी में छलांग लगाकर कई लोगों को बचाया था। इसके बाद पार्टी ने उन पर भरोसा जताते हुए मोरबी से टिकट दिया था।

सुबह साढ़े दस बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, मोरबी विधानसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार कांतिलाल अमृतिया 10,156 वोटों से आगे हैं। वहीं, बीजेपी भी 150 से अधिक सीटों पर आगे चल रही है। कांग्रेस को सिर्फ 16 सीटों पर बढ़त हासिल है, जबकि आप आदमी पार्टी छह सीटों पर आगे चल रही है। दो सीटों पर निर्दलीय आगे चल रहे हैं।

बताते चलें कि मोरबी हादसे के बाद कई सवाल उठे थे। 130 से ज्यादा मौतों से जुड़ी इस बड़ी लापरवाही को लेकर अब कई बातें सामने आई थीं। कहा जा रहा था कि इस पुल पर 100-150 लोगों के आने की क्षमता थी। हादसे के दिन इस पुल पर क्षमता से 5 गुना ज्यादा लोग सवार थे। इसके बाद पुल टूट गया था और कई लोगों की जान चली गई थी। गुजरात सरकार ने हादसे के पीड़ितों को मुआवजा भी देने का ऐलान किया था।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022 All Right Reserved by AchookSamachar. Design & Developed by WebsiteWaleBhaiya