Connect with us

Tech

One crore rupees gold missing from moving train in Bihar bags theft under sleeping passenger head

Published

on


ऐप पर पढ़ें

बिहार में चलती ट्रेन से एक करोड़ के सोने की चोरी का मामला सामने आया है। चलती ट्रेन से राजस्थान के व्यवसायी के एक करोड़ के सोने के जेवरात (दो किलो सोना) और दो लाख रुपये कैश गायब हो गए। यह घटना कामाख्या एक्सप्रेस में आरा से पटना के बीच में हुई। हालांकि पुलिस को जांच में यह मामला संदेहास्पद लग रहा है। व्यवसायी से पूछताछ की जा रही है।

राजस्थान के नागौर जिले के व्यवसायी मनोज कुमार जैन ने पटना जंक्शन स्थित रेल थाने में केस दर्ज करवाया है। मनोज असम के तपन नगर में व्यवसाय करते हैं। उनके पास दो बैग थे। एक में दो किलो सोना जबकि दूसरे में दो लाख नकद रुपए रखे थे।

व्यवसायी ने पुलिस को बताया कि चोरी गए जेवरात उनकी खानदानी संपत्ति थी। उसे 100 पटीदारों के बीच बांटने के लिए वे ले जा रहे थे। दो बैग को उन्होंने अपने सिर के नीचे रखा था। आरा तक दोनों बैग थे। उसके बाद बैग की चोरी हो गई। प्रभारी रेल एसपी अनिल कुमार ने बताया कि व्यवसायी के बयान के आधार पर केस दर्ज किया गया है।

सीसीटीवी कैमरे में नहीं दिखे संदिग्ध 

इस घटना के सामने आने के बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले। फुटेज में अब तक कोई भी संदिग्ध बैग ले जाते नहीं दिखा है। पुलिस पटना जंक्शन और आरा रेलवे स्टेशन पर लगे कैमरों की पड़ताल करने में जुटी हुई है। 

बिहार में गोल्ड स्मगलिंग के बड़े रैकेट का भंडाफोड़, पटना एयरपोर्ट से 1.5 किलो सोना बरामद; 3 तस्कर भी धराए

गबन या चोरी, जांच जारी 

चोरी की इस घटना को लेकर कई तरह के सवाल खड़े होने लगे हैं। गबन के पहलू पर भी पुलिस टीम जांच कर रही है। रेल थानाध्यक्ष ने बताया कि हर बार व्यवसायी अपना बयान बदल रहा है। पूछताछ और छानबीन पूरी होने के बाद ही मामला स्पष्ट होगा।

 

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Tech

क्या कोरोना वैक्सीन की वजह से हो रहे हैं हार्ट अटैक? डॉक्टर्स ने बताई वजह और बचाव के तरीके

Published

on

By



हंसते-खेलते इंसान के अचानक मर जाने की वीडियोज अगर आपको भी डरा रहे हैं तो आप अकेले नहीं। हर किसी के दिमाग में सवाल है कि आखिर वजह क्या है। हमने बात की कुछ जाने-माने दिल के डॉक्टर्स से, जानें क्या बोले

Continue Reading

Tech

अब हम अच्छा फील कर रहे हैं, आप लोगों ने दुआ की; किडनी ट्रांसप्लांट के बाद लालू का वीडियो

Published

on

By



राजद प्रमुख लालू यादव की बेटी मीसा भारती ने वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा है कि आप सब की दुआओं ने ही पापा का मनोबल बढ़ाया, उन्हें बेहतर महसूस करवाया! आज पापा ने आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद कहा है!

Continue Reading

Tech

how mayor is elected in delhi mcd polls – MCD चुनाव के बाद मेयर कैसे चुने जाते हैं? कौन है रेस में सबसे आगे? जानें

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

दिल्ली एमसीडी चुनाव में उम्मीदवारों की किस्मत EVM में कैद हो चुकी है। 7 दिसंबर को चुनाव के नतीजे आएंगे। वहीं कल शाम से जारी कई एग्जिट पोल के मुताबिक, दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से एमसीडी की कुर्सी 15 सालों बाद आम आदमी पार्टी (AAP) छीन सकती है। एमसीडी चुनाव के नतीजे आने से पहले ही लोगों ने यह चर्चा शुरू कर दी है कि दिल्ली का नया मेयर कौन होगा। क्या आप को पता है कि मेयर का चुनाव कैसे होता है? मेयर का कार्यकाल कितने समय के लिए होता है? आइए समझते हैं…

5 नहीं सिर्फ 1 साल के लिए होता मेयर है मेयर का कार्यकाल

एमसीडी चुनाव जीते पार्षदों का कार्यकाल 5 सालों के लिए होता है लेकिन मेयर सिर्फ 1 साल के लिए चुने जाते हैं। दिल्ली एमसीडी में कुल 250 वार्ड हैं। इन वार्डों से चुनाव जीते पार्षद ही मेयर का चुनाव करते हैं। दिल्ली की जनता सीधे तौर पर मेयर नहीं चुन सकती। जनता पार्षदों को चुनती है और पार्षद दिल्ली एमसीडी के मेयर को।

पहले साल में चुनी जाएगी महिला मेयर

एमसीडी की सरकार का कार्यकाल 5 साल का होता है। इन 5 सालों में पहले साल किसी महिला पार्षद को ही मेयर बनाया जा सकता है। ये एक तरह का रिजर्वेशन है। मालूम हो कि तीसरे साल किसी अनुसूचित जाति का पार्षद मेयर बनाया जाएगा। यानी पहले और तीसरे साल के लिए मेयर के चुनाव में रिजर्वेशन है।

नतीजे के बाद साफ होगी तस्वीर

एमसीडी चुनाव के नतीजे 7 दिसंबर को आएंगे। एमसीडी के चुनाव 4 दिसंबर को हुए थे। दिल्ली के कुल 50.48% वोटरों ने वोटिंग की थी। एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी की शानदार जीत दिख रही है। राजनीतिक पंडितों का यह अनुमान है कि AAP निर्मला देवी को मेयर बना सकती है। सनद रहे कि दिल्ली नगर निगम एक्ट के अनुसार, पहले साल में मेयर किसी महिला को ही बनाया जाएगा। निर्मला देवी AAP के महिला इकाई की प्रदेश संयोजक हैं। इसके अलावा AAP नेता शालिनी सिंह भी मेयर बनाई जा सकती हैं। तस्वीर नतीजे आने के बाद और साफ हो सकेगी।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022 All Right Reserved by AchookSamachar. Design & Developed by WebsiteWaleBhaiya