Connect with us

Tech

The worst days of the pandemic behind us said Dr Ashish K at Hindustan Times Leadership Summit – India Hindi News

Published

on


Hindustan Times Leadership Summit 2022: अमेरिकी सरकार के COVID-19 रिस्पॉन्स कॉर्डिनेटर डॉक्टर आशीष कुमार झा ने हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट (HTLS) के 20वें संस्करण के पहले दिन कहा कि कोविड-19 महामारी भले ही खत्म न हुई हो लेकिन बुरे दिन अब पीछे छूट चुके हैं। उन्होंने कहा, “दुनिया से भले ही कोविड-19 महामारी खत्म नहीं हुई हो लेकिन महामारी के सबसे बुरे दिन ‘बिल्कुल पीछे’ छूट चुके हैं।”

बता दें कि कोरोना की भीषण त्रासदी के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने जाने-माने हेल्थ एक्सपर्ट डॉक्टर आशीष झा को अपना नया COVID-19 रिस्पॉन्स कॉर्डिनेटर बनाया था। मंगलवार को हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में बोलते हुए उन्होंने इस बात की ओर इशारा किया कि दुनिया की ज्यादातर आबादी ने इस वायरस से लड़ने की प्रतिरक्षा हासिल कर ली है। उन्होंने कहा, “… भले ही हम (कोरोना मामलों में) बढ़ोत्तरी देख रहे हों या नए (कोरोना) वेरिएंट सामने आ रहे हों, लेकिन इस महामारी का सबसे बुरा वक्त अब हमारे पीछे छूट चुका है।”

डॉ झा ने वैश्विक आबादी में उच्च स्तर की प्रतिरक्षा की ओर इशारा किया – टीकाकरण और पूर्व संक्रमण दोनों के कारण – और कहा ‘… भले ही हम नए रूपों को देखने पर भी वृद्धि देखें। इस महामारी का सबसे बुरा हमारे पीछे होना चाहिए’। उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स के प्रधान संपादक आर सुकुमार को बताया, “कोविड पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है… कुछ मायनों में यह हमेशा हमारे साथ रहेगा और हमें इसे मैनेज करना होगा। लेकिन अगर सवाल यह है कि ‘क्या कोविड का सबसे बुरा वक्त हमारे पीछे छूट चुका है’, तो मेरा जवाब है ‘बिल्कुल’।”

नए वेरिएंट से निपटना

जब से कोरोना वायरस फैला है तब से इसके कई नए-नए वेरिएंट सामने आ चुके हैं। कोरोना के ऐसे कई वेरिएंट सामने आए हैं जिन्होंने संक्रमण की लहर को तेजी से बढ़ाने का काम किया। इनमें कोरोना का घातक डेल्टा वेरिएंट भी शामिल है। कुछ रिपोर्टों से पता चलता है कि भारत में कोरोना से होने वाली सभी मौतों के लगभग एक तिहाई के लिए डेल्टा वेरिएंट जिम्मेदार है।

इस बारे में जब डॉक्टर झा से पूछा गया कि क्या नए वेरिएंट के सामने आने का ट्रेंड चिंता का विषय है? तो इस पर उन्होंने कहा, “अभी, मैं कहूंगा कि हां वेरिएंट एक चिंता का विषय है। हम बहुत तेजी से बढ़े वेरिएंट को देख रहे हैं … जिस गति से SARS-CoV 2 खुद को विकसित कर रहा है वह उल्लेखनीय है।”

उन्होंने कहा, “(इसके) कई कारण हैं। प्राथमिक कारण यह है कि हमारे पास टीकाकरण और पहले के संक्रमणों के चलते काफी अधिक प्रतिरक्षा है। प्रतिरक्षा मजबूत होने के चलते वायरस पर दबाव है कि वह खुद को अलग-अलग तरह से विकसित करे। हम इम्यून-इवेसिव वर्जन देख रहे हैं। अच्छी खबर यह है कि हम इससे निपट सकते हैं … जैसे टीके को अपडेट करके … जो हमें वायरस से एक कदम आगे ले जा सकते हैं।” डॉ आशीष झा ने कहा कि जहां वायरस का निरंतर रूप बदलना उन्हें ‘चिंतित’ करता है, लेकिन “… यह मुझे आश्वस्त भी करता है कि हम मानवता के रूप में इसका सामना कर सकते हैं और अब शक्तिहीन नहीं हैं।”

बढ़ते संक्रमण पर क्या बोले डॉक्टर झा

वेरिएंट पर चर्चा के बाद, डॉ झा से पूछा गया कि वे कोरोना के बढ़ते संक्रमण को कैसे देखते हैं तो इस पर उन्होंने कहा कि ‘समय के साथ वायरस मौसमी पैटर्न में बस जाएगा … थोड़ा इन्फ्लूएंजा की तरह होगा।’ उन्होंने कहा, “… एक समय आएगा जब यह एक मौसमी (बीमारी) हो जाएगा। भले ही हम अभी भी उछाल देख रहे हों लेकिन यह पहले से ही एक मौसमी बीमारी हो चुका है।”

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Tech

कर्नाटक में अब महाराष्ट्र के नंबर वाले ट्रकों पर अटैक, मंत्रियों ने रद्द किया दौरा; बढ़ता जा रहा विवाद

Published

on

By



पुलिस ने कन्नड़ समूह कर्नाटक रक्षण वेदिके से जुड़े कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में भी लिया है। यह घटना बेलगावी के ही हीरे बागेवाड़ी में हुई, जहां इन लोगों ने एक ट्रक पर पत्थर फेंके।

Continue Reading

Tech

दशकों तक कांग्रेस का ही राज, फिर कैसे BJP ने बदला 'रिवाज', रिजल्ट से पहले 'हिमाचल की कहानी'

Published

on

By



हिमाचल प्रदेश के लगभग 70 वर्षों के राजनीतिक इतिहास में कांग्रेस का ही वर्चस्व रहा है यानी इस पार्टी ने राज्य में सर्वाधिक समय तक शासन किया है लेकिन भाजपा के राजनीतिक उदय के बाद यह परिपाटी टूटी।

Continue Reading

Tech

Gujarat Exit Poll 2022 Congress Jairam Ramesh Reaction – India Hindi News – गुजरात में बीजेपी की जीत वाले Exit Poll को कांग्रेस ने किया खारिज, जयराम बोले

Published

on

By


ऐप पर पढ़ें

Gujarat Exit Poll 2022: गुजरात, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली नगर निगम में हुए मतदान के बाद एग्जिट पोल सामने आ गए हैं। गुजरात में बीजेपी की बड़ी जीत का अनुमान है, जबकि दिल्ली नगर निगम में आम आदमी पार्टी और हिमाचल प्रदेश में बीजेपी व कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर होती हुई दिखाई दे रही है। कांग्रेस ने एग्जिट पोल्स पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा है कि यह ऐसा समय है, जब एग्जिट पोल्स को एग्जिट हो जाना चाहिए। जयराम रमेश मंगलवार को भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कन्हैया कुमार के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे, जिस दौरान उन्होंने एग्जिट पोल पर अपनी प्रतिक्रिया दी।

उन्होंने कहा, ‘यह एग्जिट पोल के एग्जिट होने का समय है। एग्जिट पोल पर आधारित सवाल अनुचित हैं। हम जानते हैं कि ये पोल कौन करवाता है, किसके प्रभाव में और क्यों कराए जाते हैं। मैं इन एग्जिट पोल पर विश्वास नहीं करता।” सभी एग्जिट पोल्स ने गुजरात में बीजेपी के लगातार सातवीं बार सरकार बनाने का अनुमान जताया है। पार्टी को 117-151 सीटें मिल सकती हैं। वहीं, कांग्रेस के लिए 16-51 सीटों का अनुमान है। आम आदमी पार्टी भी 2 से 13 सीटों तक जीतने में कामयाब रह सकती है।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के पूर्व फायरब्रांड छात्र नेता कन्हैया कुमार ने भी एग्जिट पोल को खारिज करते हुए कहा, “मैंने यह दावा नहीं किया है कि बीजेपी गुजरात में बहुमत से नहीं जीतेगी, और न ही मैंने कहा है कि कांग्रेस सत्ता में वापसी करेगी। हमने देखा है कि हमारे लोकतांत्रिक संस्थानों को अक्षम किया जा रहा है और गुजरात के लोगों की चिंताओं को नजरअंदाज किया जा रहा है।”

राजस्थान में कांग्रेस के नेताओं के बीच पड़ी दरार के बारे में बात करते हुए, कुमार ने मजाकिया टिप्पणी करते हुए कहा, ”देखिए, जब आप एक राजनीतिक दल में होते हैं, तो ऐसा लगता है जैसे कई बर्तन एक साथ व्यवस्थित किए जाते हैं। कुछ बर्तनों का आपस में टकराना तय है जो आपके घर में भी होता है।” नवंबर में, पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस नेता सचिन पायलट के बीच अनबन की खबरों को खारिज कर दिया था। 

पूर्व जेएनयू छात्र नेता ने भी बिलकिस बानो मामले को उठाया और कहा, ”वे चुनाव जीत रहे हैं लेकिन फिर क्या बिलकिस बानो के बलात्कारियों को गुणी पुरुष कहना सही है? क्या यह सही है? उन्हें जाकर अपनी बेटियों से पूछना चाहिए कि क्या बलात्कारी को गुणवान कहना सही है। चुनावों के बावजूद सही और गलत के बीच अंतर करना महत्वपूर्ण है।” ‘भारत जोड़ो यात्रा’ आठ राज्यों को कवर करते हुए 90 दिनों के लिए पूरे भारत में यात्रा कर रही है। वर्तमान में राजस्थान के कोटा में यात्रा को जम्मू और कश्मीर के अपने अंतिम गंतव्य तक लगभग 1000 किमी की दूरी तय करनी है।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022 All Right Reserved by AchookSamachar. Design & Developed by WebsiteWaleBhaiya