Connect with us

Tech

Walking just 2 km through this bridge reachJharkhand from Bihar union Minister Nitin Gadkari will lay the foundation stone understand the news

Published

on


बिहार में केंद्र सरकार के सहयोग बनने वाला एक पुल दो राज्यों बिहार और झारखंड के बीच की दूरी खत्म कर देगा। मात्र दो किलोमीटर का सफर आपको पड़ोसी राज्य की धरती पर पहुंचा देगा। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी 14 नवंबर को इस पुल का शिलान्यास करेंगे। पुल बन जाने से दोनों राज्यों के लोग और करीब आ आएंगे और एक दूसरे के सुख-दुख में शामिल हो सकेंगे। यह पुल का निर्माण रोहतास में होना जा रहा है। लगभग 50 लाख आबादी को सीधे लाभ मिलेगा।

जिले के नौहट्टा प्रखंड के पंडुका में सोन नदी पर पुल निर्माण होने से झारखंड की दूरी काफी कम हो जाएगी। रोहतास से दो किलोमीटर की दूरी तय करके बिहार के लोग झारखंड पहुंचेंगे और झारखंड के लोग बिहार ।  इस पुल के बन जाने से उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ के कई जिले भी रोहतास के पड़ोसी हो जाएंगे। यानी पंडुका पुल के निर्माण से पांच राज्यों का सीधा संपर्क जुड़ जाएगा।  अभी इन राज्यों में जाने के लिए 150-200 किलोमीटर की लंबी दूरी तय करनी पड़ती है।

इसे भी पढ़ें-  बिहार में ईंट-भट्ठों के लिए नए नियम, इन जगहों के पास नहीं खुल सकेंगे; नई गाइडलाइन जारी

 

झारखंड के गढ़वा जाने के लिए जिले के लोगों को करीब 150 किलोमीटर का लंबा सफर तय करना होता है। लेकिन, पुल के निर्माण होने से 2-3 किलोमीटर सफर करने के बाद गढ़वा(झारखंड) श्रीनगर गांव पहुंच जाएंगे। जबकि गढ़वा की दूरी मात्र 35 से 40 किलोमीटर होगी।

उसी तरह पंडुका पुल से सफर कर छत्तीसगढ़ के रामानुजगंज (बाजार) की दूरी मात्र 98-99 किलोमीटर होगी। फिलहाल जाने में करीब 220 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है। 14 नवंबर को पंडुका पुल का केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी शिलान्यास करेंगे।

इसे भी पढ़ें-  धान खरीदः सभी मिलों को नहीं दिया जाएगा धान, जिलों के लिए अलग-अलग टारगेट; CM नीतीश ने दिए कई निर्देश

 

महत्वपूर्ण तथ्य

● पंडुका पुल निर्माण होने के बाद नौहट्टा से झांरखंड 2-3 किलोमीटर की दूरी तय कर पहुंचेंगे गढ़वा जिले का श्रीनगर, जबकि गढ़वा मुख्यालय की दूरी होगी 40 किलोमीटर।

● फिलहाल झारखंड के गढ़वा जाने के लिए डेहरी से औरंगाबाद हरिहरगंज के रास्ते या फिर इंद्रपुरी बाराज के रास्ते 150 किलोमीटर दूरी तय करनी पड़ती है।

● पंडुका पुल के रास्ते छत्तीसगढ़ राज्य के बलरामपुर जिले के रामानुज गंज बाजार 99 किलोमीटर की दूरी तय कर पहुंचेंगे। फिलहाल डेहरी, औरंगाबाद, हरिहरगंज के रास्ते या फिर इंद्रपुरी बराज होते हुए करीब 220 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है।

● पंडुका पुल से यूपी के सोनभद्र जिले का बॉर्डर 13 किलोमीटर बाद पड़ेगा, जबकि सोनभद्र के लिए 55 किलोमीटर दूरी तय करनी होगी। फिलहाल घुमकर जाने में यानी झारखंड के गढ़वा के रास्ते जाने पर 185 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है।

● पंडुका पुल से मध्य प्रदेश के सिंगरौली की दूरी 150 किलोमीटर होगी। फिलहाल करीब 180 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती है।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Tech

Shraddha Murder Case: कल तिहाड़ जेल में होगा आफताब का पोस्ट नार्को टेस्ट, कैसे है ये नार्को से अलग?

Published

on

By



फोरेंसिक मनोविज्ञान विभाग (FSL) की टीम और अंबेडकर अस्पताल की टीम ने मिलकर आफताब का नार्को टेस्ट पूरा किया है। अब कल यानी 2 दिसंबर को आफताब का पोस्ट नार्को टेस्ट होगा।

Continue Reading

Tech

PAK vs ENG : इंग्लैंड से पिटाई के बाद अब पिच को लेकर सवालों के घेरे में पाकिस्तान, फैंस ने रमीज राजा से मांगा इस्तीफा

Published

on

By



ऐतिहासिक पाकिस्तान-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज गुरुवार (1 दिसंबर) को इंग्लैंड के पिंडी क्रिकेट स्टेडियम में शुरू हुई। लेकिन रावलपिंडी की सपाट पिच देखकर फैंस के साथ-साथ दिग्गज भी निराश नजर आ रहे हैं।

Continue Reading

Tech

कैसे औरंगजेब की कैद से निकल गए थे छत्रपति शिवाजी? हाथ मलता रह गया था मुगल बादशाह

Published

on

By



मुगल बादशाह औरंगजेब ने शिवाजी को धोखे से आगरा किले में कैद करवा लिया था। हालांकि शिवाजी और उनके भाई संभाजी वहां से भाग निकले और औरंगजेब हाथ मलता रह गया।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2022 All Right Reserved by AchookSamachar. Design & Developed by WebsiteWaleBhaiya